#LordSurya Instagram Photos & Videos

LordSurya - 444 posts

Latest #LordSurya Posts

  • जानिए क्या है, भगवान सूर्य के अचेत होने की अनोखी कथा ?  ब्रह्मवैवर्तपुराण के अनुसार, एक बार भोले शंकर ने माली और सुमाली को मारने वाले सूर्य पर त्रिशूल से प्रहार कर दिया। इससे सूर्य की चेतना नष्ट हो गई। वे तुरंत रथ से नीचे गिर पड़े। जब कश्यप मुनि ने देखा कि उनके पुत्र का जीवन खतरे में है, तब वे उन्हें छाती से लगाकर विलाप करने लगे। उस समय सारे देवताओं में हाहाकार मच गया। वे सभी भयभीत होकर जोर-जोर से रुदन करने लगे। अंधकार छा जाने से सारे जगत में अंधेरा हो गया। तब ब्रह्मा के पौत्र तपस्वी कश्यप ने शिवजी को श्राप दिया और बोले तुम्हारे प्रहार के कारण जैसा मेरे पुत्र का हाल हो रहा है, ठीक वैसा ही तुम्हारे पुत्र का भी होगा। यह सुनकर भोलेनाथ का क्रोध शांत हो गया। उन्होंने सूर्य को फिर से जीवित कर दिया। जब उन्हें कश्यपजी के श्राप के बारे में पता चला, तो उन्होंने सभी का त्याग करने का निर्णय लिया। यह सुनकर देवताओं की प्रेरणा से भगवान ब्रह्मा सूर्य के पास पहुंचे और उन्हें उनके काम पर नियुक्त किया। ब्रह्मा, शिव और कश्यप सूर्य को आशीर्वाद देकर अपने-अपने भवन चले गए। इधर सूर्य भी अपनी राशि पर आरूढ़ हुए। इसके बाद माली और सुमाली भी भयंकर शारीरिक कष्ट से जूझने लगे। इससे उनका प्रभाव नष्ट हो गया। तब स्वयं ब्रह्मा ने उन दोनों से कहा-सूर्य के कोप से तुम दोनों का तेज खत्म हो गया है। तुम सूर्य की आराधना करो। उन दोनों ने सूर्य की आराधना शुरू की और फिर से निरोगी हो गए। 
For Free Prediction Call Now: 01246674671

कोई समस्या है या कोई सवाल है तो दिए हुए लिंक पे क्लिक कर आप अपनी समस्या और अपने सवाल भेज सकते है :- https://goo.gl/rfz1Cb **For more,Follow us on Instagram: https://goo.gl/cxgCkS/ **For more information, visit us: www.astroscience.com **You can contact us on whatsapp : 9821599237

#GdVashist #Astrology #LalKitab #VashistJyotish  #LordSurya
  • जानिए क्या है, भगवान सूर्य के अचेत होने की अनोखी कथा ? ब्रह्मवैवर्तपुराण के अनुसार, एक बार भोले शंकर ने माली और सुमाली को मारने वाले सूर्य पर त्रिशूल से प्रहार कर दिया। इससे सूर्य की चेतना नष्ट हो गई। वे तुरंत रथ से नीचे गिर पड़े। जब कश्यप मुनि ने देखा कि उनके पुत्र का जीवन खतरे में है, तब वे उन्हें छाती से लगाकर विलाप करने लगे। उस समय सारे देवताओं में हाहाकार मच गया। वे सभी भयभीत होकर जोर-जोर से रुदन करने लगे। अंधकार छा जाने से सारे जगत में अंधेरा हो गया। तब ब्रह्मा के पौत्र तपस्वी कश्यप ने शिवजी को श्राप दिया और बोले तुम्हारे प्रहार के कारण जैसा मेरे पुत्र का हाल हो रहा है, ठीक वैसा ही तुम्हारे पुत्र का भी होगा। यह सुनकर भोलेनाथ का क्रोध शांत हो गया। उन्होंने सूर्य को फिर से जीवित कर दिया। जब उन्हें कश्यपजी के श्राप के बारे में पता चला, तो उन्होंने सभी का त्याग करने का निर्णय लिया। यह सुनकर देवताओं की प्रेरणा से भगवान ब्रह्मा सूर्य के पास पहुंचे और उन्हें उनके काम पर नियुक्त किया। ब्रह्मा, शिव और कश्यप सूर्य को आशीर्वाद देकर अपने-अपने भवन चले गए। इधर सूर्य भी अपनी राशि पर आरूढ़ हुए। इसके बाद माली और सुमाली भी भयंकर शारीरिक कष्ट से जूझने लगे। इससे उनका प्रभाव नष्ट हो गया। तब स्वयं ब्रह्मा ने उन दोनों से कहा-सूर्य के कोप से तुम दोनों का तेज खत्म हो गया है। तुम सूर्य की आराधना करो। उन दोनों ने सूर्य की आराधना शुरू की और फिर से निरोगी हो गए।
    For Free Prediction Call Now: 01246674671

    कोई समस्या है या कोई सवाल है तो दिए हुए लिंक पे क्लिक कर आप अपनी समस्या और अपने सवाल भेज सकते है :- https://goo.gl/rfz1Cb **For more,Follow us on Instagram: https://goo.gl/cxgCkS/ **For more information, visit us: www.astroscience.com **You can contact us on whatsapp : 9821599237

    #GdVashist #Astrology #LalKitab #VashistJyotish #LordSurya
  •  94  0  14 hours ago

Advertisements

Advertisements

Advertisements

  • हिन्दू पुराणों के अनुसार रविवार का दिन सूर्य भगवान की पूजा का दिन माना जाता है। मान्यता है कि रविवार के दिन नियमित रूप से सूर्यदेव के नाम का उपवास कर उनकी आराधना की जाए तो उपासक की सारी द्ररिद्रता दूर हो जाती है। हिन्दू धर्म में पौराणिक कथाओं में सूर्य को ब्रह्मांड का केंद्र माना गया है। आदि काल से सूर्य की पूजा उपासना का प्रचलन है इसलिए सूर्य को आदिदेव के नाम से भी जाना जाता है। रोज सुबह स्नान करने के बाद भगवान सूर्य को जल अर्पित करने को बहुत ही पावन कार्य बताया गया है। कथाओं में कहा गया है कि सूर्य उपासना से इंसान बलिष्ठ होता है और उसमें सूर्य जैसा ही तेज आता है। खासकर रविवार के दिन व्रत रखना और नियम पूर्वक सूर्य की पूजा करना आध्यात्मिक जीवन के लिए बहुत ही लाभकारी बताया गया है। कथाओं में कहा गया है  भगवान सूर्य का उपासक कठिन से कठिन कार्य में सफलता प्राप्त करता है और उसके आत्मबल में भी वृद्धि होती है। कोई समस्या है या कोई सवाल है तो दिए हुए लिंक पे क्लिक कर आप अपनी समस्या और अपने सवाल भेज सकते है :- https://goo.gl/rfz1Cb
#GdVashist #Astrology #LalKitab #VashistJyotish #LordSurya #worship #astrologer #jyotish
  • हिन्दू पुराणों के अनुसार रविवार का दिन सूर्य भगवान की पूजा का दिन माना जाता है। मान्यता है कि रविवार के दिन नियमित रूप से सूर्यदेव के नाम का उपवास कर उनकी आराधना की जाए तो उपासक की सारी द्ररिद्रता दूर हो जाती है। हिन्दू धर्म में पौराणिक कथाओं में सूर्य को ब्रह्मांड का केंद्र माना गया है। आदि काल से सूर्य की पूजा उपासना का प्रचलन है इसलिए सूर्य को आदिदेव के नाम से भी जाना जाता है। रोज सुबह स्नान करने के बाद भगवान सूर्य को जल अर्पित करने को बहुत ही पावन कार्य बताया गया है। कथाओं में कहा गया है कि सूर्य उपासना से इंसान बलिष्ठ होता है और उसमें सूर्य जैसा ही तेज आता है। खासकर रविवार के दिन व्रत रखना और नियम पूर्वक सूर्य की पूजा करना आध्यात्मिक जीवन के लिए बहुत ही लाभकारी बताया गया है। कथाओं में कहा गया है भगवान सूर्य का उपासक कठिन से कठिन कार्य में सफलता प्राप्त करता है और उसके आत्मबल में भी वृद्धि होती है। कोई समस्या है या कोई सवाल है तो दिए हुए लिंक पे क्लिक कर आप अपनी समस्या और अपने सवाल भेज सकते है :- https://goo.gl/rfz1Cb
    #GdVashist #Astrology #LalKitab #VashistJyotish #LordSurya #worship #astrologer #jyotish
  •  390  4  24 February, 2019
  • हमारे हिंदू धर्म में हर देवता को एक वार समर्पित है और उस दिन विशेषरूप से उस देवता की पूजा की जाती है। रविवार का दिन सूर्य देव की पूजा स्तुति को समर्पित है। अगर आपके मन में कई सारी इच्छाएं और मनोकामनाएं है तो आप रविवार का व्रत कर सकते है। सूर्य देव का व्रत सबसे श्रेष्ठ माना जाता है क्योंकि यह व्रत सुख और शांति देता है। पौराणिक धार्मिक ग्रंथों में भगवान सूर्य के अर्घ्यदान की विशेष महत्ता बताई गई है। प्रतिदिन प्रात:काल में तांबे के लोटे में जल लेकर और उसमें लाल फूल, चावल डालकर प्रसन्न मन से सूर्य मंत्र का जाप करते हुए भगवान सूर्य को अर्घ्य देना चाहिए। इस अर्घ्यदान से भगवान सूर्य प्रसन्न होकर आयु, आरोग्य, धन, धान्य, पुत्र, मित्र, तेज, यश, विद्या, वैभव और सौभाग्य प्रदान करते है। कोई समस्या है या कोई सवाल है तो दिए हुए लिंक पे क्लिक कर आप अपनी समस्या और अपने सवाल भेज सकते है :- https://goo.gl/rfz1Cb
#GdVashist #Astrology #LalKitab #VashistJyotish #LordSurya #surya #suryanamaskar #sunday #sundaymotivation #jyotish #astrologer
  • हमारे हिंदू धर्म में हर देवता को एक वार समर्पित है और उस दिन विशेषरूप से उस देवता की पूजा की जाती है। रविवार का दिन सूर्य देव की पूजा स्तुति को समर्पित है। अगर आपके मन में कई सारी इच्छाएं और मनोकामनाएं है तो आप रविवार का व्रत कर सकते है। सूर्य देव का व्रत सबसे श्रेष्ठ माना जाता है क्योंकि यह व्रत सुख और शांति देता है। पौराणिक धार्मिक ग्रंथों में भगवान सूर्य के अर्घ्यदान की विशेष महत्ता बताई गई है। प्रतिदिन प्रात:काल में तांबे के लोटे में जल लेकर और उसमें लाल फूल, चावल डालकर प्रसन्न मन से सूर्य मंत्र का जाप करते हुए भगवान सूर्य को अर्घ्य देना चाहिए। इस अर्घ्यदान से भगवान सूर्य प्रसन्न होकर आयु, आरोग्य, धन, धान्य, पुत्र, मित्र, तेज, यश, विद्या, वैभव और सौभाग्य प्रदान करते है। कोई समस्या है या कोई सवाल है तो दिए हुए लिंक पे क्लिक कर आप अपनी समस्या और अपने सवाल भेज सकते है :- https://goo.gl/rfz1Cb
    #GdVashist #Astrology #LalKitab #VashistJyotish #LordSurya #surya #suryanamaskar #sunday #sundaymotivation #jyotish #astrologer
  •  329  5  23 February, 2019
  • Om Ya Tuhan yang berwujud kemegahan yang agung, putra Aditi, dengan cahaya merah sembah kehadapanmu, dikau yang berstana di tengah teratai putih, sembah kepadamu, pembuat sinar.

lihatlah menjulang tinggi di angkasa, cahaya yang terang benderang mengatasi kegelapan telah datang, ia adalah Dewa Surya, dewa dari seluruh dewata, cahayanya yang terang itu betapa indahnya.

tujuh sinar matahari, mengangkat uap air dari samudra naik ke langit dan semuanya itu menyebabkan turunnya hujan.

#lordsurya #shrisurya
#hindudharma #cintakasih
#penuhkasihsayang 
#shiva #adity
#pagi #sundress
  • Om Ya Tuhan yang berwujud kemegahan yang agung, putra Aditi, dengan cahaya merah sembah kehadapanmu, dikau yang berstana di tengah teratai putih, sembah kepadamu, pembuat sinar.

    lihatlah menjulang tinggi di angkasa, cahaya yang terang benderang mengatasi kegelapan telah datang, ia adalah Dewa Surya, dewa dari seluruh dewata, cahayanya yang terang itu betapa indahnya.

    tujuh sinar matahari, mengangkat uap air dari samudra naik ke langit dan semuanya itu menyebabkan turunnya hujan.

    #lordsurya #shrisurya
    #hindudharma #cintakasih
    #penuhkasihsayang
    #shiva #adity
    #pagi #sundress
  •  29  0  18 February, 2019
  • 🙏🙏🙏Ratha Saptami🙏🙏🙏 Ratha Saptami is an auspicious day devoted to Lord Surya. It is observed on the saptami(7th day) during shukla paksha of Magha month. It is believed that Lord Sun started enlightening the whole world on Ratha Saptami day which was considered as a birthday of Lord Surya. Devotees worship Lord Surya on Ratha Saptami to get relief from all kinds of sins. Chanting 'Gayatri Mantra' and 'Surya Sahasranaam' on this day is considered very auspicious. It helps to get rid of all types of ailments.

Read Also: goo.gl/343SeK

#RathaSaptami #LordSurya #MaghaSaptami #Spirituality
  • 🙏🙏🙏Ratha Saptami🙏🙏🙏 Ratha Saptami is an auspicious day devoted to Lord Surya. It is observed on the saptami(7th day) during shukla paksha of Magha month. It is believed that Lord Sun started enlightening the whole world on Ratha Saptami day which was considered as a birthday of Lord Surya. Devotees worship Lord Surya on Ratha Saptami to get relief from all kinds of sins. Chanting 'Gayatri Mantra' and 'Surya Sahasranaam' on this day is considered very auspicious. It helps to get rid of all types of ailments.

    Read Also: goo.gl/343SeK

    #RathaSaptami #LordSurya #MaghaSaptami #Spirituality
  •  19  0  12 February, 2019
  • *ಆದಿತ್ಯಃ ಪ್ರಥಮಂ ನಾಮ ದ್ವಿತೀಯಂ ತು ದಿವಾಕರಃ* ।
*ತೃತೀಯಂ ಭಾಸ್ಕರಃ ಪ್ರೋಕ್ತಂ ಚತುರ್ಥಂ ತು ಪ್ರಭಾಕರಃ* ॥ *ಪಂಚಮಂ ತು ಸಹಸ್ರಾಂಶುಃ ಷಷ್ಠಂ ತ್ರೈಲೋಕ್ಯಲೋಚನಃ* ।
*ಸಪ್ತಮಂ ಹರಿದಶ್ವಶ್ಚ ಅಷ್ಟಮಂ ಚ ವಿಭಾವಸುಃ* ॥ *ನವಮಂ ದಿನಕರಂ ಪ್ರೋಕ್ತೋ ದಶಮಂ ದ್ವಾದಶಾತ್ಮಕಃ* ।
*ಏಕಾದಶಂ ತ್ರಯೋಮೂರ್ತಿಃ ದ್ವಾದಶಂ ಸೂರ್ಯ ಏವ ಚ* ॥

ಇತಿ ಸೂರ್ಯದ್ವಾದಶನಾಮಸ್ತೋತ್ರಂ ಸಮ್ಪೂರ್ಣಮ್ ।

#rathasapthami #surya #lordsurya #sun #lordsun #hindutradition #hindufestival #hindugods #hinduculture #hinduism #suryatemple
  • *ಆದಿತ್ಯಃ ಪ್ರಥಮಂ ನಾಮ ದ್ವಿತೀಯಂ ತು ದಿವಾಕರಃ* ।
    *ತೃತೀಯಂ ಭಾಸ್ಕರಃ ಪ್ರೋಕ್ತಂ ಚತುರ್ಥಂ ತು ಪ್ರಭಾಕರಃ* ॥ *ಪಂಚಮಂ ತು ಸಹಸ್ರಾಂಶುಃ ಷಷ್ಠಂ ತ್ರೈಲೋಕ್ಯಲೋಚನಃ* ।
    *ಸಪ್ತಮಂ ಹರಿದಶ್ವಶ್ಚ ಅಷ್ಟಮಂ ಚ ವಿಭಾವಸುಃ* ॥ *ನವಮಂ ದಿನಕರಂ ಪ್ರೋಕ್ತೋ ದಶಮಂ ದ್ವಾದಶಾತ್ಮಕಃ* ।
    *ಏಕಾದಶಂ ತ್ರಯೋಮೂರ್ತಿಃ ದ್ವಾದಶಂ ಸೂರ್ಯ ಏವ ಚ* ॥

    ಇತಿ ಸೂರ್ಯದ್ವಾದಶನಾಮಸ್ತೋತ್ರಂ ಸಮ್ಪೂರ್ಣಮ್ ।

    #rathasapthami #surya #lordsurya #sun #lordsun #hindutradition #hindufestival #hindugods #hinduculture #hinduism #suryatemple
  •  16  0  12 February, 2019